अच्छे Rank के लिए Blog के Article पर कितने Backlinks बनाने चाहिए | [2021]

अच्छे Rank के लिए Blog के Article पर कितने Backlinks बनाने चाहिए | [2021]

बहोत सारे लोग जानना चाहते है की अच्छी रैंकिंग हो इसके लिए ब्लॉग के एक आर्टिकल पर कितने बैकलिंक्स बनाने चाहिए | मैं इसे बताने से पहले आपको बता दू की ये मिलियन डॉलर प्रश्न है और कोई भी ब्लॉगर अपने इस सीक्रेट को बताना नहीं चाहेगा | अगर आपके भी इसे जाने की रूचि है तो आप आर्टिकल को अंत तक पढ़े मुझे पूरी उम्मीद है आपको आज इन सभी सवालों के जवाब मिल जाएंगे |

रैंकिंग के लिए बैकलिंक्स एक बहोत ही इम्पोर्टेन्ट पैरामीटर्स है जो आपकी रैंकिंग को सबसे ऊपर लेकर जाता है लेकिन ये कहना गलत होगा की सिर्फ बैकलिंक्स से आपकी रैंकिंग ऊपर जाती है यकीन मानिये अगर आपको कोई कहता है की आप इतने बैकलिंक्स बना लो और आप टॉप पर रैंक करने लगोगे तो मेरी सलाह यही है की आप उसे बच के रहे |

एक आर्टिकल को रैंक करने के लिए गूगल बहोत से पैरामीटर्स को देखता है और उन्ही पैरामीटर्स के हिसाब से आपकी रैंकिंग को कम या ज्यादा करता है हम उन सभी पैरामीटर्स को एक-एक करके देखते है ताकि हमें इस प्रश्न का जवाब मिल सके |

1. User Engagement:

सबसे पहली चीज़ यही है जो आपके रैंकिंग को जीरो से एक अपर लेकर आती है अगर आपके कंटेंट में User engage कर रहा है तो गूगल के नज़रो में आपकी अथॉरिटी बढ़ रही है क्यूंकी user engagement गूगल को ये सिग्नल देता है की आपका कंटेंट यूजर Inquiry को पूरा कर रहा है और वो आपके जवाब से सटिस्फीएड है इस जवाब के लिए उन्हें कही और जाने की जरूरत नहीं है इसीलिए हमेशा user engagement कंटेंट लिखने की कोसिस करें करें |

2. Freshness:

आपके कंटेंट में फ्रेशनेस कितना है इस बात पर भी डिपेंड करता है की आपका आर्टिकल क़ौन से पोजीशन पर रैंक करेगा यभी या नहीं अगर आपने कही से कॉपी पेस्ट करके कंटेंट लिख दिया है तो आप कभी रैंक नहीं कर सकते है बहोत बार ऐसा हुआ है की कॉपी पेस्ट कंटेंट ओरिजिनल से पहले रैंक हो जाता है लेकिन गूगल को इसका पता चल जाता है और आपकी साइट फिर हमेशा के लिए गूगल से deindex यानी गूगल के रैंकिंग से हट जाती है तो कोसिस करें की इसे बचे |

3. plagiarism:

अगर आपके कंटेंट में plagiarism है तो आपको इसका बहोत बड़ा नुकसान हो सकता है इसलिए अपने कंटेंट को पोस्ट करने से पहले उसका पालगरिसम जरूर चेक कर ले | ऐसा ज्यादा तर तभी होता है जब आप एक प्लेटफार्म का कंटेंट दूसरी से पोस्ट करते है इसे बचने का सिर्फ एक ही रास्ता है की आपको हर बार यूनिक कंटेंट लिखना है पता है मुझे आप सोच रहे होंगे की ये बोहोत मुश्किल है तो मिलियन डॉलर भी तो आपको कमाना है देखिये अगर आप लिखने लगते है तो आपके लिए ये आसान हो जाता है शुरू में आपको थोड़ा स्ट्रगल जरूर करना होता है |

4. User satisfaction:

अगर आपका यूजर आपके दिए जवाब से सटिस्फीएड है तोह यकीं मानिये आपको No.1 रैंक से कोई नहीं रोक सकता है इसलिए लिए ऐसा कंटेंट लिखिए जो यूजर के पढ़ने लायक हो ना की बोट्स के लिए | गूगल के लिए उसके यूजर ही भगवान है क्यूंकि गूगल अपने यूजर से हे कमाई करता है इसलिए वो कभी नहीं चाहेगा की उसके यूजर unsatisfied हो | तो इसका आपको ख़ास ध्यान रखना है की आपके जवाब से यूजर satisfied रहे और उसे इसके लिए फिर और किसी वेबसाइट पर ना जाना पड़े |

5. Quality content:

आपके कंटेंट में अगर क्वालिटी है आपने यूजर के बिहैवियर को ध्यान में रखते हुए उसपर डिटेल्ड रिसर्च करके कंटेंट लिखा है तो इसे आप यूजर और गूगल दोनों के नज़रो अपनी एक अच्छी ऑथरिटी बना रहे है और आप अपने इंडस्ट्री में लीडर बनने के तरफ जा रहे है |

6. Content length:

जी हाँ आपके content length पर भी आपकी रैंकिंग डिपेंड करती है ऐसा इसलिए है क्यूंकि हम सब को पता है की कंटेंट लेंथ जितनी ज्यादा होगी कंटेंट उतना में उतनी ज्यादा जानकारी होगी ऐसा कंटेंट यूजर के सभी inquery को पूरा करता होगा लेकिन आपको सिर्फ कंटेंट लेंथ को बढ़ाने के लिए ऐसे हे कुछ नहीं लिखना है अन्यथा (संस्कृत टॉय किया है ) आपका यूजर engagement कम हो जायेगा |

7. Title:

आपके पोस्ट का टाइटल टाइटल इतना जबरदस्त होना चाहिए की यूजर उस पे क्लिक करने को मजबूर हो जाए मान लीजिये आपने कंटेंट बहोत अच्छा लिखा है लेकिन आपका टाइटल बहोत बोरिंग है तो कोई भी आपके पोस्ट पर क्लिक नहीं करेगा | इसिलए हमेशा eye catchy और यूनिक टाइटल लिखे |

8. Description:

इसे आपको सिर्फ 160 शब्दों में हे लिखना पड़ता है क्यूंकि उसके बाद का दिखाई नहीं देता है इसका रैंकिंग से सीधा कोई लेना देना नहीं है लेकिन आपके साइट का CTR बढ़ाने में इसका बोहोत बड़ा हाथ है क्यूंकि यही चीज़ है जिसे यूजर क्लिक करने से पहले पढ़ता है आपको हमेशा इसे लिखते समाये धयान रखना है की आपको सिर्फ 160 शब्दों में अपने आर्टिकल की खासियत बोहोत अचे से बतानी है और यूजर को क्लिक करने पर मज़बूर कर देना है

Note: आपको कभी भी अपने Title और Description में क्लिक बैट नहीं करना है वरना यूजर आपके साइट पर जायेंगे और फिर पोस्ट को बिना पढ़े ही बाउंस बेक हो जायेंगे इसे आपके साइट का बॉउंस रेट बढ़ने लगेगा और गूगल को आप अपनी रैंकिंग डाउन करने पे मज़बूर करने लगेंगे |

9. Keywords:

आपको हमेशा आर्टिकल पोस्ट करने से पहले अच्छे से कीवर्ड रिसर्च कर लेना चाहिए आप इसके लिए फ्री और पेड दोनों टूल्स का यूज़ कर सकते है आप LSI ( Latent Semantic Keywords ) कीवर्ड्स को अपने आर्टिकल में जरूर शामिल करें आप लिंक पे क्लिक करके हमारा LSI से रिलेटेड आर्टिकल पढ़ सकते है जहा आपको LSI से जुड़े सभी प्रश्नो के जवाब मिल जायेंगे |
आपको अपने आर्टिकल में सिर्फ कीवर्ड स्टफ़िंग नहीं करना है आपको कीवर्ड्स का यूज़ करते समय इसका ध्यान रखना है की आपका सेन्टेन्स फार्मेशन ख़राब ना हो जाए |

10. Heading Tags:

इसे रैंकिंग का कोई सीधा सम्बन्ध नहीं है लेकिन अगर आप Heading tags (H1 , H2 , H3 , H4 , H5 , H6 ) का उसे करते है तो आपका पोस्ट वेल organise हो जाता है और गूगल crawlers को इसे समझने में आसानी होती है |

11. Backlinks:

आपको अपने आर्टिकल को रैंक करवाने के लिए बैकलिंक्स कैसे बनाना है कौन से तरीकों से बैकलिंक्स बनाना है किस बैकलिंक्स से आपको ज्यादा ट्रैफिक आएगा आपको कहा से फ्री में do-follow backlinks मिलेंगे इन सभी को हमने अपने [ Advance Backlinks Strategy ] में समझया है जिसे आप फ्री मे देख सकते है

इनके अलावा भी बहोत से फैक्टर्स है जिन्हे हमने कवर नहीं किया है जिसे हम नेक्स्ट आने वाले ब्लॉग में कवर करेंगे अगर आप उसका अप्डेट्स चाहते है तो आप हमें Facebook और Instagram पर फॉलो कर सकते जहा हम अपडटेस और SEO न्यूज़ को कवर करते है |

This Post Has 11 Comments

    1. Raju

      Good knowledge । Please visit caseearn.com

  1. arpi

    Thanks to share information to us
    this very useful content
    i also want to create content like you
    have a nice day

  2. Gulab

    Your information is correct and I have written a reference in my blog because I am doing that course.

  3. Manish

    Dear author thanks🙏 for sharing this article it’s very useful for me

    1. Psingh

      Manish Ji aapka bahot bahot dhanyawad support ke liye

  4. Kaushik

    आपके आर्टिकल बोहोत ही अच्छा है,आप अच्छी तरीके से लिखे हैं।
    धन्यवाद।

Leave a Reply